रोहतक मर्डर केस: मामले में आया नया मोड़, कोर्ट में फूट-फूटकर रोया आरोपी अभिषेक, क्या हुआ कोर्ट में ?देखें

रोहतक : 27 अगस्त को रोहतक की विजय नगर कालोनी में चौहरे हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपी बेटे को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. वहीं आरोपी पक्ष की पैरवी कर रहे वकील ने कोर्ट में उल्टे पुलिस पर ही आरोप लगाते हुए इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि पुलिस मनगढ़ंत कहानी पेश कर रही है.

दोपहर दो बजे आरोपी अभिषेक को कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया. इस दौरान अभिषेक काफी परेशान नजर आया और कोर्ट परिसर में ही फूट-फूटकर रोने लगा. मीडिया की नजरों से आरोपी अभिषेक को बचाने के लिए कोर्ट परिसर के आसपास पुलिसकर्मियों का सख्त पहरा था.

कोर्ट में आरोपी पक्ष के वकील मोहित शर्मा ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस अपनी नाकामी छिपाने के लिए मनगढ़ंत कहानी पेश कर रही है. उन्होंने अभिषेक को बेकसूर बताते हुए इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की.

अभिषेक ने खुद को बेकसूर बताया: वकील
वकील ने बताया कि अभिषेक ने बातचीत के दौरान खुद को बेकसूर बताया है. पुलिस अपनी नाकामी छिपाने के लिए उसे फंसा रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने जो कहानी पेश की है , उसमें बहुत सारे पेंच है जो कि एक-दूसरे से मेल नहीं खाते. इस मामले को लेकर सभी साक्ष्य जल्द ही कोर्ट के सामने पेश किए जाएंगे.

ऐसे दिया वारदात को अंजाम
वहीं पुलिस ने बताया कि आरोपी इस खूनी खेल की प्लानिंग कई दिनों से कर रहा था . परिवार के सदस्य उसके समलैंगिक संबंधों को लेकर नाराज थे जिसके चलते परिजनों ने उसको खर्चा देना भी बंद किया हुआ था. आरोपी अभिषेक ने कई दिन पहले ही अपने पिता की अवैध पिस्तौल को छिपाकर अपने पास रख लिया था. 27 अगस्त को उसने सबसे पहले घर के उपर बने कमरे में सो रही बहन को गोली मारी. उसके बाद नानी को किसी बहाने से उपर बुलाया और फिर उसे गोली मारी.इसके बाद अपनी मां को यह कहकर उपर ले गया कि पता नहीं नानी को क्या हो गया.

जब मां कमरे में पहुंची तो उसे भी गोली मार दी. इस दौरान अभिषेक ने तेज आवाज में म्यूजिक ऑन किया हुआ था ताकि गोली चलने की आवाज बाहर सुनाई न दे. इसके बाद नीचे आकर मोबाइल पर वीडियो देख रहे अपने पिता के माथे पर पिस्तौल सटाकर दो गोलियां मारी. दो गोलियां लगने के बाद भी पिता उठने लगा तो एक गोली और मारी. इस तरह पुरी वारदात को अंजाम देने के बाद पूरे घर को लॉक करके वह अपने दोस्त के पास होटल में चला गया. इस दौरान उसने होटल में जाते हुए पिस्तौल रास्ते में फेंक दी थी.

Summary : Rohtak: On August 27, the accused son, who carried out the four-sided murder in Vijay Nagar Colony of Rohtak, was produced in the court, from where he was sent to judicial custody for 14 days. At the same time, the lawyer representing the accused side has demanded a CBI inquiry into the matter, accusing the police on the contrary in the court. He said that the police is presenting a fabricated story.