टिकैत-चढ़ूनी की केंद्र को चेतावनी: किसानों को छेड़ा तो दिवाली PM आवास के सामने मनेगी, दफ़्तरों में ठूस देंगे अनाज

सोनीपत : किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चे के नेताओं ने रविवार को केंद्र सरकार को चेतावनी दी है। किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए बंद किए गए बॉर्डर जबरदस्ती खोलने की कोशिशों पर किसान नेता भड़क गए हैं। राकेश टिकैत, गुरनाम चढ़ूनी और जगजीत डल्लेवाल ने केंद्र सरकार को कोई भी हरकत करने पर अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहने को लेकर आगाह किया।

केंद्र सरकार को चेतावनी देते गुरनाम सिंह चढ़ूनी। - Dainik Bhaskar

किसान नेता राकेश टिकैत ने रविवार को ट्वीट कर कहा, ‘किसानों को अगर दिल्ली के बॉर्डरों से जबरन हटाने की कोशिश हुई तो वे देशभर में सरकारी दफ्तरों को गल्ला मंडी बना देंगे।’ उधर, भारतीय किसान यूनियन की हरियाणा इकाई (चढ़ूनी ग्रुप) के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने केंद्र सरकार और भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों को छेड़ने की कोशिश की तो इस बार दिवाली नई दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास पर मनाएंगे।

किसान जगजीत सिंह डल्लेवाल ने भी कहा कि सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर खोलने का कोई भी फैसला आधा-अधूरा नहीं होगा। जो होगा उसमें सबकी सहमति होगी।

किसान नेता राकेश टिकैत का ट्वीट।

किसान नेता राकेश टिकैत का ट्वीट।

26 नवंबर, 2020 से ही केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध करते हुए हजारों किसान दिल्ली के तीन बॉर्डर टिकरी, सिंघु और गाजीपुर पर डेरा डालकर बैठे हैं। सुप्रीम कोर्ट के कड़े रुख के बाद पिछले कुछ दिन से दिल्ली पुलिस, केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार दिल्ली से लगते हरियाणा के सिंघु, टिकरी और उत्तर प्रदेश के गाजीपुर बॉर्डर को खोलने को लेकर एक्टिव है।

इन्हीं कोशिशों के बीच किसान नेताओं ने किसी अनहोनी की आशंका को देखते हुए सीधे सरकार को चेतावनी दे दी है। संयुक्त किसान मोर्चे के नेताओं का कहना है कि केंद्र सरकार, हरियाणा सरकार, यूपी सरकार और दिल्ली पुलिस कुछ भी करने से पहले किसानों से बातचीत कर ले वरना परिणाम के लिए वह खुद जिम्मेदार होंगी।

दफ्तरों को अनाज से भर देंगे : टिकैत
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रविवार को ट्वीट कर कहा, ‘अगर किसानों को जबरन दिल्ली सीमा से हटाने की कोशिश की गई तो वे देशभर के सरकारी दफ्तरों को गल्ला मंडी बना देंगे।’ पिछले सप्ताह ही टिकैत ने कहा था कि दिल्ली बॉर्डर खुले तो अनाज सीधा संसद में ले जाकर बेचेंगे। टिकैत का यह ट्वीट दिल्ली पुलिस की ओर से गाजीपुर और टिकरी बॉर्डर से सीमेंट के भारी-भरकम ब्लॉक और बैरिकेड हटाने के दो दिन बाद आया।

दीवाली पीएम आवास के दरवाजे पे : चढूनी
भाकियू हरियाणा के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी ने भी रविवार को वीडियो जारी कर सरकार को चेताया कि वह किसी प्रकार की गलतफहमी न पालें। किसानों को हटाने की कोशिश की गई तो इस बार दिवाली प्रधानमंत्री मोदी के दरवाजे पर मनेगी। वीडियो में चढ़ूनी ने किसानों से कहा, ‘साथियों, सरकार कई दिन से बॉर्डर खोलने की तैयारी कर रही है और लोगों में बड़ी अफरातफरी है। चर्चा है कि दिवाली से पहले सरकार सड़कें खाली करा देगी। हम सरकार को चेतावनी देना चाहते हैं कि किसी गलतफहमी या भूल में न रहे। आप भी तैयारी करिए। सारे मोदी के घर चलेंगे और वहीं पर डेरा डालेंगे।’